10 शत्रु नाशक उपाय और शत्रु को सजा देने के टोटके

शत्रु नाशक उपाय बताओ और टोटके के बारे में, जानिये कुछ ऐसे प्रभावकारी शत्रु दूर करने के उपाय के बारे में, शत्रु की बुद्धि ख़त्म करना, शत्रु का मुंह सुजाना, शत्रुता का भाव ख़त्म करना आदि के बारे में.

आप इन उपायों के प्रयोग से अपनी शत्रुता को ख़त्म कर सकते है. चाहे आपकी किसी से भी कैसी भी, कितनी ही पु रानी शत्रुता क्यों न हो वह ख़त्म हो जाएगी.

आज कल शत्रुता सिर्फ सामने से ही नहीं बल्कि छुप कर भी की जाने लगी है, लोग मुंह पर तो अच्छे और पीठ पीछे बुरे हो जाते है. ऐसे लोगों से बचने के लिए आपको यह प्रयोग जरूर अपनाने चाहिए.

आइये शुरू करते है आपके सवाल के जवाब में gupt shatru nashak totke bataye kya hai shatru khatam karne ke upay के बारे में इन Hindi भाषा में.

Shatru Nashak Upay Batao in Hindi

शत्रु नाशक टोटके बताये क्या है ?

सबसे पहले आपको शत्रु उच्चाटन मंत्र में यह प्रयोग बताते है. ” ॐ नमो क्षेत्रपाल विकराला मम शत्रु उच्चाटन-उच्चाटय हूँ फैट स्वाहा।

  • इस मंत्र को 108 बार बोलकर चावल मंत्र कर शत्रु के घर के बिच में फेंक दें. इसको फेंकने के साथ ही शत्रु के घर के सभी लोगों का उच्चाटन हो जायेगा. आपकी शत्रुता बिलकुल ख़त्म हो जाएगी.

एक और शत्रु उच्चाटन उपाय बताते है, जिससे की आपके शत्रु का ध्यान आपसे बिलकुल ही हट जायेगा. ” श्रीं श्रीं श्रीं अमुक शत्रु उच्चाटन स्वाहा “ इस मंत्र में से अमुक की जगह पर अपने शत्रु का नाम लिख दें और फिर मंत्र को पड़ें.

इस मंत्र से उत्तर फाल्गुनी नक्षत्र में कुंकुम की सात अंगुल लम्बी लकड़ी को 108 बार पढ़कर शत्रु के दरवाजे पर गाड़ दें. इस प्रयोग को करने से सिर्फ एक सप्ताह के अंदर आपकी उस व्यक्ति से शत्रुता बिलकुल ही ख़त्म हो जाएगी.

शत्रु की बुद्धि नष्ट करने का उपाय

अगर आप अपने किसी शत्रु की बुद्धि नष्ट करना चाहते है तो आप इस मंत्र ” ॐ नमो भगवते शत्रूणां बुद्धि स्तम्भन कुरु कुरु स्वाहा ” इस मंत्र का 1008 पर जप करे तो आपके शत्रु की बुद्धि नष्ट हो जाएगी, उसकी बुद्धि ब्र्हम खाने लगेगी.

शत्रु दूर करने का छोटा सा उपाय

जब कोई शत्रु बेवजह परेशान करता रहता है, तो ऐसे में आप एक भोजपत्र का टुकड़ा लें और उस पर लाल चन्दन से परेशान करने वाले शत्रु का नाम लिख दें.

नाम लिखने के बाद इस भोजपत्र के टुकड़े को शहद की एक डिब्बी में अंदर डालकर उसे शहद में डुबो दें. इस छोटे से प्रयोग से शत्रु पर विजय मिलती है, शत्रु शांत करने का उपाय है.

शत्रु नाशक टोटके में एक और उपाय बताते है इसके लिए आप एक मौर का पंख लें. अब किसी शनिवार या मंगलवार की रात में स्नान कर के हनुमान जी के मंदिर जाए और हनुमान जी के शीश पर चढ़े हुए सिंदूर से इस मौर के पंख पर अपने शत्रु का नाम लिख दें.

अब इसे घर ले आये और अपने घर में जहा पूजा करने का स्थान हो वहां पर पूरी रात रखा रहने दें फिर सुबह जल्दी उठकर इस पंख को बहते हुए पानी में छोड़ आये. इस टोटके से शत्रु शांत होगा. यह बहुत ही आसान दुश्मनी ख़त्म करने का उपाय है.

अगर आपका शत्रु बड़ा हिंसक है और आपको उसके आक्रमण का भय लगा रहता है तो आप इस मंत्र का जप करे “ॐ ह्रीं: श्रीं चक्रेश्वरी मम रक्षम कुरु कुरु स्वाहा

इस मंत्र का रोजाना 108 बार जाप करे तो सभी तरह के शत्रु भय ख़त्म हो जायेगा. इस प्रयोग को करने के बाद आपका शत्रु आप पर किसी भी तरह का आक्रमण नहीं करेगा, इस प्रयोग से आपकी आत्मरक्षा होगी.

शत्रु का मुंह सुजाने का उपाय

अगर आप अपने शत्रु को सजा देना चाहते है तो हम आपको एक ऐसा प्रयोग बता रहे है जिसको करने पर आ अपने शत्रु का मुंह सुजा और मुंह फुला सकते है यानी आप अपने शत्रु को कष्ट दे सकते है.

इसके लिए आप बताये जा रहे इस यन्त्र को बनाये. इस यन्त्र को सफ़ेद कागज पर रविवार के दिन शत्रु का नाम सरसों के तैल से लिखें और जमीं में गाड़ दें तो शत्रु के मुंह पर सूजन आ जाती है.

इस यन्त्र को सफ़ेद कागज़ पर लोहे की कलम से बकरी के दूध से शत्रु का नाम लिखकर जूता मारे तो शत्रु का मुंह फूल जायेगा. इन दोनों प्रयोग में से आप चाहे जिसे कर सकते है.

गुप्त शत्रु नाशक टोटका

इस प्रतिस्पर्धात्मक युग में जाने कितने नए नए जाने अनजाने शत्रु बन ही जाते है. इनमे से कुछ शत्रु सामने से और कुछ पीछे से वार करते है. इनसे सावधान और इनसे बानी शत्रुता को ख़त्म करने के लिए आप यह आसान प्रयोग जरूर करे.

आप किसी खेत या अच्छी जगह पर नीम, आम, बादाम, बैर, कटहल, तुलसी, काला धतूरा इन को लगाए और इनकी देख रेख करे.

इनमे रोजाना पानी डाले पानी डालते वक्त मानसिक रूप से शत्रु का नाम लेते रहे इस छोटे से प्रयोग से आपकी शत्रुता धीरे धीरे ख़त्म होने लगेगी.

इस प्रयोग से भविष्य में दूसरे लोगों से शत्रुता भी कम हो जाती है, फिर आपके शत्रु बहुत ही कम रह जाते है.

  • इस यन्त्र को बनाने के लिए एक विशेष प्रकार की स्याही की जरूरत पड़ती है. इस स्याही को बनाने के लिए नीम का गोंद, नमक, ऊसर की मिटटी, चित्रक नामक वृक्ष की थोड़ी सी लकड़ी के कोयले, ये कोयले चित्रक की मोटी लकड़ी को जलाकर बनाये जा सकते है इसके अलावा कुंकुम यह सभी पदार्थ लें. कहीं से भी इनको मगवाये.
  • अब इन सभी पदार्थों को थोड़े पानी में डालकर उसे अच्छे से घोट लें. इस तरह से होते की यह स्याही जैसा बन जाए. अब एक सफ़ेद कागज पर चित्रक की ही कलम से इस स्याही से बताये गए यन्त्र को बना लें.
  • इस यन्त्र को जो व्यक्ति बनाये उसे ऊनि आसान पर बेथ कर पश्चिम दिशा की तरफ मुंह रख कर यह यन्त्र बनाना है. इस यन्त्र को बनाकर इसे अगरबत्ती की धुआँ दिखाकर इस लेकर किसी बहेड़े वृक्ष के निचे गद्दा खोदकर गाड़ दें.
  • जिस समय इसे गाड़ें उस समय यही भावना करें की मेरे अमुक शत्रुओ का शमन करे.
  • इसे गाड़कर घर लौट आएं. इसके प्रभाव से तत्काल कुछ ही दिनों ने शत्रुता नष्ट हो जाएगी और आपका शत्रु आपको परेशां करना बंद कर देगा. यन्त्र के बिछे में जहाँ पर साध्य लिखा है वहां पर आप अपने शत्रु का नाम लिखे.

  • इसके अलावा शत्रुता और शत्रु द्वारा किये गए नुकसान से बचने के लिए आप हनुमान जी की आराधना करे. इसके लिए रोजाना हनुमान चालीसा और बजरंगबाण का पाठ जरूर करे साथ ही हनुमान जी को लाल फूल और बूंदी का भोगा भी लगाए.
  • इस तरह रोजाना हनुमान जी की भक्ति करने से आपको और भी के लाभ होंगे शत्रुता तो ख़त्म होगी ही इसके अलावा हनुमान जी आपके निष्ट को भी दूर करेंगे.

शत्रु को दबाने का टोटका

अगर आप अपने शत्रु को दबाने चाहते है ताकि वह आपको तंग न करे और आपका कहना माने तो इसके लिए आप यह छोटा सा प्रयोग जरूर करे.

एक भोजपत्र ले, उसक एक छोटा सा टुकड़ा करे और उसके ऊपर लाल चन्दन से अपने शत्रु का नाम लिखे. अब इस टुकड़े को शहद से भरी एक डिब्बी में डालकर डुबो दें. इस छोटे से प्रयोग से आपका शत्रु आप पर हावी नहीं होगा.

शत्रु ख़त्म करने के उपाय

एक और बहुत ही सरल उपाय बताते है, जब भी शौच करने के लिए जाए तो वही बैठे-बैठे पानी से अपने दुश्मन का नाम लिखे अब इसके बाद अपने बाए पैर से आपने जिस जगह पर नाम लिखा है उस जगह पर तीन बार पैर मारे. इस तरह ऐसा करने से आपका शत्रु विचलित होगा और आपको परेशान नहीं करेगा.

किसी भी तरह के दुश्मन से जो आपको परेशान किये जा रहा हो उससे छुटकारा पाने के लिए मंदिर या कहीं भी खुली जगह पर जाए और वहां एक गड्डा खोदे उस गड्डे में 40 दाने चावल के और काली उड़द के 38 दाने डाल कर उस गड्डे को मिटटी से वापस भर दें. अब एक निम्बू को काटकर इस गड्डे के ऊपर निचोड़ दें. इस नीबू को निचोड़ते वक्त अपने शत्रु का नाम लेते रहें. इस छोटे से प्रयोग से शत्रुशमन होता है है.

तो यह थे gupt shatru nashak upay bataye in Hindi, शत्रुत्रा दूर करने के उपाय हमने इसमें सबसे ज्यादा प्रभावकारी टोटके बताये है. आप इन्हे बताये गए नियम अनुसार पूरी श्रद्धा और पवित्रता से करे तो आपको लाभ जरूर मिलेगा जिससे आपका शत्रु शांत होगा और आपको परेशान नहीं करेगा. इसके अलावा हमने शत्रु को ख़त्म करने के बारे में और भी पोस्ट दिए है आप उन्हें भी पड़ें हमसे जुड़े रहे.

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *