कर्ज उतारने के उपाय 101% कर्ज से मिलेगी मुक्ति ‘रामबाण’

कर्ज मुक्ति के रामबाण उपाय
कर्ज मुक्ति के उपाय बताओ क्या है और टोटके जिनके प्रयोग से आप अपने लिए गए कर्ज से जल्दी मुक्ति पाई जा सके.  कर्ज एक ऐसी समस्या है जिसका समाधान बहुत कठिन होता है.
क़र्ज़ एक तरह का दलदल होता है, जिसमे एक बार फंस जाए तो फिर व्यक्ति धीरे-धीरे ओर फंसता जाता है. किसी के पैसे चुकाने के लिए व्यक्ति दूसरे व्यक्ति से ब्याज पर पैसे लेता है फिर ब्याज चुकाने के लिए वह दूसरे से पैसा लेता है.
ऐसे में दिनोदिन व्यक्ति की हालत बुरी होती जाती है. इसी वजह से कई लोग या तो शहर छोड़कर भाग जाते है या आत्महत्या कर लेते.
लेकिन अब आप इस Post को देख ही रहे है तो आप जरा भी चिंता न लें, हम आपको क़र्ज़ उतारने के उपाय  बहुत ही प्रभावी प्रयोग बताने वाले जिससे आपको किसी तरह की परेशानी नहीं आएगी. आप इस जानकारी सबसे तेज असरकारी कर्ज से मुक्ति पाने के उपाय, karz mukti remedies in Hindi को पूरा जरूर पड़ें.
karj
ज़िंदगी में हर एक व्यक्ति कभी न कभी तो कर्ज़दार बनता ही है, इससे कोई नहीं बच पाता. यह जानकारी ज्योतिष यानी कुंडली को देख कर भी पता लगाई जा सकती है की व्यक्ति का जीवन कर्जदारी से परेशान होगा या नहीं. हमसे कई मित्रों द्वारा आग्रह किया गया की कर्ज से छुटकारे के उपाय बताओ, टोटका बताये आदि तो आज हम ऐसे ही कर्ज मुक्ति रामबाण उपाय बताने जा रहे है.
आज की दुनिया में कई कर्ज़दार लोग है, तो में चाहूंगा की आप इस Post को ज्यादा से ज्यादा लोगों भेजे और फेसबुक व्हाट्सप्प पर सभी जगह पर शेयर करे ताकि यह हर कर्ज़दार तक पहुँच जाए और वह इसका लाभ ले सके. तो चलिए अब आगे कर्ज उतारने के उपाय के बारे में जानते है. 
इन उपायों को करते वक्त इनमे आप पूरी श्रद्धा रखे, अपने पुरे मन से यह उपाय करे. अधूरे से मन से किया गया कोई भी प्रयास असफलता ही दिलाता है इसलिए आप पवित्रता और दृढ़ता दोनों बनाये रखे.

कर्ज मुक्ति के उपाय बताएं

कर्ज मुक्ति के रामबाण उपाय

Karz Se Mukti Ke Upay Batao Kya Hai

सबसे पहले बाजार से सरसों का तेल, चमेली का तेल, तिल का तेल, अरंडी का तेल और जैतून का तेल ले आए. अब इन सभी तेलों को क्रमशः यानी की बारी बारी 4: 1: 3 : 4 के अनुपात में मिला लें यानी कि अगर आप इनमें सरसों का तेल 40 मिलीलीटर ले रहे हैं तो चमेली का तेल 10 मिलीलीटर ले, तिल का तेल 30 मिलीलीटर, अरंडी का तेल 30 लीटर ले और सरसों का तेल 40 मिलीलीटर ले.
यह एक अनुपात है अब इसमें आप 5 हरी इलायची, एक या दो बड़ी इलायची, थोड़ी सी जावित्री और नमक की एक डल्ली  मिला दे. अब इस पूरे मिश्रण को रखा रहने दे रोजाना इस मिश्रण में से थोड़ा सा तेल एक पीतल के दीपक पर ले और उस दीपक में रुई की एक गोल बत्ती बना कर डुबो दें रोजाना इस दीपक को संबंधित व्यक्ति यानी कि जो व्यक्ति कर्जदार है वह अपने बेडरूम में जलाएं.
ऐसा नियमित रूप से रोजाना कुछ दिनों तक करने से वह कर्जदार व्यक्ति जो कि कर्जदार है उस व्यक्ति का कर्ज धीरे धीरे उतरने लगता है. यह दीपक रोजाना 5 से 10 मिनट तक जरूर चलना चाहिए इस बात का विशेष ध्यान रखें. यह बहुत ही सरल उपाय है जो कि कर्ज मुक्ति कराता है. इस प्रयोग को लम्बे समय तक करे और मन में विश्वाश रखे की आपका कर्ज जल्द उतर जायेगा.
जिस व्यक्ति को कर्ज से परेशानी (karj se pareshan) हो उसे रोजाना सूर्य देव को जल चढ़ाना चाहिए. आप जो जल सूर्य देव को चढ़ाएंगे उसमें पहले लाल मिर्च के 21 दाने भी डाल दें.
इस प्रयोग में जल चढाने के बाद सूर्य देवता से हाथ जोड़कर कर्ज मुक्ति की प्रार्थना करें. लगातार कुछ दिनों तक इस प्रयोग को करने से सकारात्मक प्रभाव दिखाई देने लगता है और व्यक्ति के कर्ज में भी कमी आने लगती है. इसे आप नियमित रूप से रोजाना सुबह स्नान करने के बाद करें.

कर्ज उतारने का यन्त्र

बताए गए इस यंत्र को एक पीले कार्ड पर लाल स्याही से किसी भी दिन शुभ मुहूर्त में बना लें. इसके बाद इसे लैमिनेट यानी कि लेमिनेशन करवाकर कर्ज से पीड़ित व्यक्ति अपनी शर्ट की जेब में या फिर अपने कार्यस्थल पर रखें. रात के समय यह यन्त्र शर्ट में ही रखा रहने दें. इसको रखने से भी अभीष्ट फल की सिद्धि होती है और कर्जदार व्यक्ति को कर्ज से मुक्ति (karz se mukti) मिलती है.
शुक्लपक्ष में किसी भी मंगलवार के दिन मगंल यन्त्र की स्थापना अपने घर के पूजा स्थान पर करे और फिर शुद्ध घी का दीपक जलाये. यन्त्र पर कुमकुम का तिलक लगाए और फूल, फल, मिठाई बूंदी के दाने या लड्डू का भोग लगाकर इस मंत्र ” ॐ क्रां क्रीं क्रों सः भौमाय नमः ” जा रोजाना नियमित रूप से जप करे. जप करने के बाद यन्त्र को चढ़ाई गई प्रसाद सबसे पहले किसी कन्या को और पशु पक्षियों को डालकर फिर स्वयं और परिवार वालो को बांटें.
अगर आप किसी वजह से रोजाना यह प्रयोग नहीं कर सके तो हर मंगलवार के दिन यह प्रयोग अवश्य करे. क़र्ज़ मुक्ति के लिए यह बहुत ही प्रभावशाली प्रयोग है इसे भी जरूर करे. अपने नजदीकी किसी पंडित से जानकारी ले की शुक्लपक्ष कब आने वाला है फिर इस प्रयोग का शुभारम्भ करे.
प्रत्येक शनिवार को सुबह के समय मीठा पानी पीपल के पेड़ की जड़ों में डालें और शाम के समय सरसों के टेल का दीपक जलाये या सरसों के तैल में सिक्का डालकर अपना चेहरा देखें और फिर उस सिक्के को किसी डकौत  को दे दें.

कर्ज उतारने के उपाय बताओ क्या है ?

एक नारियल लें अब सिंदूर को चमेली के तैल में मिलाकर उस नारियल पर स्वस्तिक का चिन्ह बनाये. इसके बाद थोड़ी प्रसाद लें और हनुमान जी के मंदिर जाए और उनके चरणों में नारियल और प्रसाद दोनों रखे. फिर ऋणमोचक मंगल स्त्रोत का पाठ करे. इस प्रयोग से बहुत ही जल्दी ऋण से मुक्ति मिलती है.

इसके अलावा किसी भी शनिवार आपकी लम्बाई के बराबर एक काला धागा लें और उस धागे को एक नारियल पर लपेट दें फिर इस नारियल का सामान्य पूजन करे और फिर बहते हुए पानी में इसे प्रवाहित कर दें. यह प्रयोग करते वक्त मानसिक रूप से भगवान से प्राथना करते रहे की हे परमात्मा मुझे ऋण कर्ज से मुक्ति दिलाये.

बताये गए ऋणमोचक मंगल स्त्रोत का पाठ रोजाना करे, इसकी शुरुआत शुक्लपक्ष के पहले मंगलवार से करे और फिर नियम से रोजाना करे तो बहुत ही लाभ प्राप्त होगा.

गायत्री मंत्र से कर्ज मुक्ति

पांच पुरे खिले हुए फूल लें, डेढ़ मीटर सफ़ेद कपड़ा ले. अब इस कपडे को बिछाकर इन पाँचों फूलों को रख दें और 21 बार गायत्री मंत्र पड़ें और फिर इस कपडे को बांध दें और खुद जाकर बहते हुए पानी में इसे प्रवाहित कर दें.

अत्यधिक कर्ज होने पर उसे उतारने का रामबाण उपाय

अगर कोई व्यक्ति कर्ज में डूबता ही जा रहा हैं तो लगातार 6 शनिवार तक यह उपाय करे. सबसे पहले ऐसा शमशाम देखे जहाँ उसके पास कुवा हो. अब आपको लगातार 6 शनिवार को इस कुवे से पानी भरकर किसी पीपल के पेड़ की जड़ों में डालना हैं. इस प्रयोग से आश्चर्यजनक लाभ मिलते हैं.[/wps_box]

कर्ज मुक्ति के टोटके में एक और टोटका बताते हैं. इसे अब शुक्लपक्ष के पहले शनिवार के दिन शाम के समय करना हैं इसके अलावा शनिश्चरी अमावस्या को भी यह उपाय कर सकते हैं.

अपनी दोनों मुट्ठियों में काली राई रख लें. अब किसी चौराहे पर पूर्व दिशा की तरफ अपना चेहरा कर के अपने राइट हैंड की राइ को लेफ्ट हैंड की तरफ फेंक दें और लेफ्ट हैंड की राइ को राइट हैंड की तरफ फेंक दें. इसके बाद चौराहे पर मिट्टी के दिए में सरसों का तैल डालकर दो मुंह वाला दीपक बनाकर उसे वही चौराहे पर जला दें. पवित्रता और पुरे मन श्रद्धा से किया गया यह “karz mukti ka upay ‘totka” बहुत ही प्रभावकारी परिणाम देता हैं.

कर्ज की किश्त का आरंभ पहले मंगलवार से करना चाहिए.
कर्ज की पहली किश्त देने से पहले श्री हनुमान मंदिर में दोपहर के समय कुछ प्रसाद, चमेली के शुद्ध तेल का दीपक, चंदन की अगरबत्ती और गूगल की धूप के साथ पीले फूल की माला उनको चढ़ाएं. साथ ही प्रभु से कर्ज से शीघ्र मुक्ति दिलवाने का निवेदन करने के बाद कर्ज की पहली किश्त देने जाएं (karj kisht se chutkara paane ka upay hai yah).
  • कर्ज लेकर आने के बाद सबसे पहले मंदिर में जाकर कर्ज के लिए गए पैसों में से कुछ पैसों से भगवान को प्रसाद लाकर चढ़ाएं और उन से निवेदन करें कि मैने मजबूरी में कर्ज लिया है, प्रभु इस कर्ज से मुक्ति दिलाने की कृपा करें.
  • जब तक कर्ज मुक्त ना हो जाए तब तक नियमित रूप से ऋणहर्ता श्री गणेश स्त्रोत ऋणमोचक मंगल स्तोत्र और कवच का पाठ करते हैं. इसके प्रभाव से आप बहुत जल्द ही ऋण मुक्त यानी कि कर्ज मुक्त हो जाएंगे.
धनतेरस के दिन ऋण लेना बहुत ही अच्छा होता है. इस दिन लिया गया ऋण यानी कि कर्ज बहुत ही जल्दी समाप्त हो जाता है और लक्ष्मी आगमन के मार्ग भी खुलते है.
  • अगर आप अपने निवास के निर्माण के लिए यानी घर बनाने के लिए कर्ज लेते हैं तो मकान के निर्माण के समय विधिवत अभिमंत्रित श्री यंत्र, वास्तु दोष निवारक यंत्र और श्री मंगल यंत्र को मकान में स्थान जरूर दें.
  • जब आप किसी भी तरह के कर्ज की पहली किश्त का भुगतान करें तो उस दिन श्री हनुमान जी के नाम से दो गरीबों को भोजन भी करवाएं.
कर्ज़ की पहली किश्त मंगलवार को ही देना चाहिए, इसके अलावा उस दिन सवा मीटर लाल कपड़े में 900 ग्राम लाल मसूर बांधकर किसी को दान करें. यह लगातार तीन मंगलवार को करें, यह ध्यान रखें कि दाल ऐसे गरीब व्यक्ति को दे जो मंगलवार के दिन ही उसे बनाकर अपने परिवार को खिलाएं. इससे उपाय अधिक प्रभावी होगा और आपको बहुत लाभ मिलेगा.
  • अगर आप व्यवसाय के लिए लोन लेना चाहते हैं या व्यवसाय के लिए ले चुके है, तो सबसे पहले किसी विद्वान पंडित को अपनी जन्म कुंडली दिखाएं कि आपकी कुंडली में व्यवसाय योग है या नहीं. अगर है तो किस प्रकार के व्यवसाय में सफलता मिलेगी, अगर आपकी कुंडली में व्यवसाई योग नहीं है तो फिर लेने से भी कोई लाभ नहीं है.
  • व्यवसाय में आपको सफलता ही मिलेगी, जिसके कारण आप किश्त वापस करने में असमर्थ हो जाएंगे लेकिन आप उदास ना हो परिवार के किसी अन्य से सदस्य की कुंडली दिखाए और जी की कुंडली में व्यवसाय का योग हो उस के नाम से कर्ज लें और उसी के नाम से व्यवसाय शुरू करे तो अच्छी सफलता मिलेगी.
  • इसके अलावा आप प्रत्येक मंगलवार को ऋणमोचक मंगल स्त्रोत का पाठ करे, जल्द ही कर्ज से मुक्ति मिलेगी, यह बताये गए कर्ज उतारने के उपाय में बहुत ही प्रभावी है. अगर आप इस स्त्रोत का पाठ अभिमंत्रित मनगल यन्त्र को सामने रख कर करते है तो कुछ ही समय में ऋण से मुक्ति पाई जा सकती है.

  • अगर मंगल यंत्र को हनुमान जी की तस्वीर के साथ रखा जाए और फिर पाठ करते समय चमेली का तैल और गुग्गुल की धुप जलाई जाए तो यह और भी अधिक प्रभावशाली हो जाता है, जिससे क़र्ज़ मुक्ति में बहुत लाभ होता है. यह ऋणमोचक मंगल स्त्रोत कुछ इस तरह से है जो की आप देख सकते है.
तो इस तरह से अगर आप इन बताये गए karz mukti ke upay in Hindi कर्ज उतारने के उपाय के बताये गए नियम अनुसार प्रयोग करते है तो आपका कर्ज ज्यादा समय तक नहीं रहेगा.
इसके लिए आप प्रयोग करते वक्त श्रद्धा, पवित्रता जरूर रखे. अगर आप इन कर्ज के ज्योतिषी उपायों को जैसा बताया गया है वैसे ही करते है तो आपको पुराने से पुराना कर्ज भी खत्म होंगे लगेगा.
लेकिन सिर्फ उपाय करके ही न रह जाए, अपना व्यवसाय भी करते रहे आपको किसी न किसी तरह से सहायता मिलती रहेगी नए नए रस्ते खुलेंगे. इसी तरह की जानकारी पाते रहने के लिए हमसे जुड़े रहे.

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *