100% स्थिर लक्ष्मी के उपाय 6 : घर में पैसे रोकने के टोटके

sthir laxmi ke upay totke

Sthir laxmi ke upay in Hindi आमदनी से ज्यादा पैसे खर्च हो जाते है, लक्ष्मी स्थिर नहीं रहती, पैसा नहीं टिकता तो आप यह पोस्ट पूरा जरूर पड़ें, इसमें आप पाएंगे पैसे रोकने के उपाय टोटके के बारे में जिनके प्रयोग से घर में पैसा टिकेगा, तिजोरी कभी खाली नहीं रहेगी.

कई व्यक्तियों को इस बात की विशेष परेशानी रहती है की वह जितना कमाते है उससे कहीं ज्यादा खर्च हो जाता है, यानी बचत बिलकुल भी नहीं होती.

लक्ष्मी जी बहुत अधिक चंचल होती है. वे एक स्थान पर अधिक समय तक टिक कर नहीं रहती. आज इस घर तो कल उस घर में चली जाती है. लेकिन कुछ तरीके व लक्समी स्थिर करने के उपाय है जिनके जरिये पैसो की कमी नहीं आती, तिजोरी हमेशा भरी रहने लगती है.

लक्ष्मी जी की चंचलता के कारण ही की समय के साथ-साथ अमीर से गरीब और गरीब से अमीर बनने का क्रम चलता रहता है. यह एक ऐसी वास्तविकता है जिसे बदला नहीं जा सकता लेकिन फिर भी हर एक इंसान चाहता है की उनके पास लक्ष्मी स्थिर रहे. लक्ष्मी जी की कृपा प्राप्त करने के लिए हमारे प्राचीन ग्रंथों में अनेक लक्ष्मी जी को स्थिर करने के उपायों का उल्लेख किया गया है.

sthir laxmi ke upay totke

Paise Rokne Ke Upay in Hindi

Shthir Laxmi Ke Upay Bataye

यह ऐसे उपाय है जिनका प्रयोग काफी समय से होता आ रहा है और यह कभी निष्फल नहीं होते है.

यहाँ पर हम ऐसे ही कुछ सरल और प्रभावी उपायों के बारे में बताने जा रहे है. इनके प्रयोग से आपके घर में लक्ष्मी का वास निरंतर बना रहेगा, धन स्थिर रहेगा. तो चलिए अब आगे शुरू करते है.

#1

इस प्रयोग में बुधवार के दिन किसी भी देसी गाय का थोड़ा सा गोबर ले आएं. देसी गाय का गोबर प्राप्त नहीं होने की स्थिति में किसी भी गाय का गोबर काम में लिया जा सकता है.

इस गोबर को किसी स्वच्छ एवं झीने वस्त्र में बाँध कर लटका दें. इससे गोबर का पानी निकल जायेगा और सिर्फ गोबर ही रह जायेगा. अब इस शुद्ध गोबर से श्री गणेश जी की मूर्ति बनाये.

इस मूर्ति को एक स्वच्छ पवित्र लकड़ी के पाटे पर रख कर धुप में रख दें, ताकि यह मूर्ति सुख जाए.फिर उसी दिन शाम को इस मूर्ति को वहां से उठा लाये और पूजा स्थल पर रख दें.

अब शाम को पूजा के समय पर थोड़े से सिंदूर में घी मिला लें और इससे इस गणेश जी की मूर्ति पर अभिषेक कर दें और इस पर चांदी के अर्क जो की बाजार में आसानी से मिल जाते इस अर्क को लाकर गणेश की मूर्ति पर चिपका दें.

स्थिर लक्ष्मी के उपाय

इसके बाद एक, तीन या पांच माला ॐ गं गणपतये नमः मंत्र का जप करे. इसके बाद हर बुधवार को निष्ठापूर्वक एक माला इस मंत्र का जप करना है. जप करने से पहले शुद्ध घी का दीपक लगाए और गुग्गुल की धुप भी करे.

जो व्यक्ति रोजाना इस गोबर के बने गणेश जी का पूजन-अर्चन करता है तथा समय समय पर इनका अभिषेक करके श्रृंगार करता है, उसे उत्तम लक्ष्मी प्राप्त होती है, उसके यहाँ लक्ष्मी स्थिर रहती है, ऐसे व्यक्ति के पास धन की कभी कमी नहीं रहती.

बस आपको हर गणेश चतुर्थी पर बताई गई विधि अनुसार नई मूर्ति गोबर से बनानी है और शाम के समय उसकी स्थापना करनी, बाकी पुरानी मूर्ति को बहते हुए पानी में विसर्जित कर दें.

इसके अलावा दीपावली को लक्ष्मी जी की पूजन के समय इस गणेश जी की प्रतिमा का भी पूजन करे. इस तरह धीरे-धीरे इस मूर्ति के भीतर शक्ति का पुंज स्थापित हो जाता है.

इस प्रयोग से धन की प्राप्ति भरपूर मात्रा में होगी और धन स्थिर भी रहेगा यह बहुत ही सरल और दिव्य चमत्कारी प्रयोग है (sthir laxmi) पैसे रोकने के टोटके में यह बेहतरीन आसान तरीका है. .

आमतौर पर गणेश जी की मूर्ति का स्थान घर के मुख्य द्वार के ऊपर होता है लेकिन इस गोबर से बनी मूर्ति को पूजा स्थल में रखा जा सकता है.

  • धन से जुडी और भी कई जानकारी हमने दी है, आप उन्हें भी जरूर पड़ें जो की इस तरह है.  धन प्राप्ति के उपाय और टोटके आपको इन्हे जरूर देखना चाहिए काफी चमत्कारी और सरल प्रयोग दिए है.
  • कई बार जीवन में हमे अचानक धन की आवश्यकता लग जाती है, इसके लिए भी हमने उपाय दिए है जिनको करने से कुछ ही समय में किसी न किसी रास्ते से पैसो का इंतजाम हो जाता है. आप इसके लिए पोस्ट जरूर पड़ें  . अचानक धन प्राप्ति के उपाय 8 मंत्र और टोटके देखे..

#2

एक और लक्ष्मी स्थिर करने के लिए प्रयोग बताते है, अत्यंत प्रभावी उपाय है. इस उपाय को अगर दीपावली के दिन लक्ष्मी पूजन के साथ किया जाए तो बहुत अच्छा है.

अगर आप दीपावली की प्रतीक्षा नहीं करना चाहते है तो शुक्लपक्ष के किसी भी प्रथम शुक्रवार को यह प्रयोग कर सकते है.

इसके बाद दीपावली आये तो पुनः इस प्रयोग को किया जा सकता है. इसके लिए आपको एक दक्षिणावृत्ति शंख, एक मोती शंख, एक चांदी का सिक्का, तीन कौड़ियां और एक ताम्र पत्र पर उत्कीर्ण श्रीयंत्र की जरुरत होगी.

आप इन सभी चीजों को धार्मिक स्थलों पर मौजूद धार्मिक दुकानों पर से खरीद सकते है. इन सभी चीजों की व्यवस्था हो जाने पर प्रयोग के समय सुबह स्नान आदि करके स्वच्छ कपडे धारण करे.

किसी भी एकांत कमरे में उत्तर दिशा की दिवार के पास का स्थान गंगाजल के छींटे देकर शुद्ध कर ले. इसके बाद उस स्थान पर एक बाजोट बिछाए, उसके ऊपर सवा मीटर लाल रेशमी वस्त्र चार तह करके बिछा दें.

एक बड़े पात्र में स्वच्छ पानी भरकर उसमे कुछ गंगाल डाल दें. इस पानी में दोनों शंख, कौड़ियां, चांदी का सिक्का और श्री यन्त्र डाल कर अच्छी तरह से स्वच्छ करके एक अलग थाली में रख दें.

अब एक दूसरी थाली ले. इसको स्वच्छ करके बाजोट पर स्थान दें. रोली से इसके बीच-मे स्वस्तिक बनाये. अब शुद्ध घी का दीपक तथा गुग्गुल की धुप लगाए.

घर में धन रोकने के उपाय बताएं

मानसिक रूप से किसी भी लक्ष्मी यन्त्र का जप करते रहे. अब सबसे पहले दक्षिणवर्त्ती शंख को उठा कर थाली में बनाये स्वस्तिक के दायी तरफ स्थान दें.

मोती शंख को बायीं तरफ स्थान दें. दोनों के बिच श्री यन्त्र स्थापित करे. उनके आगे कोडियां तथा चांदी का सिक्का रखें. अब किसी भी लक्ष्मी मंत्र की 5-11 या 21 माला का जप करे.

जप के बाद प्रणाम करके उठ जाए. जब तक दीपक जलता रहे तब तक सब कुछ ऐसे ही रहने दें. दीपक ठंडा होने पर थाली की सारी सामग्री को प्रणाम करे. अब पहले दक्षिणवृत्ति शंख को अपने पूजास्थल में रख दे.

इसके बाद मोती शंख को भी पूजा स्थल में रख दे चांदी का सिक्का, कौड़िया और श्री यन्त्र को अपने धन रखने के स्थान पर रख दें. इससे आपका धन रखने का स्थान कभी भी खाली नहीं रहेगा, वह हमेशा भरा रहेगा.

अगर आप यह उपाय अपने व्यवसाय स्थल पर करना चाहते है तो वहां भी कर सकते है. यह उपाय अत्यंत प्रभावी तथा आसानी से किया जा सकता है.

बस प्रयोग में पवित्रता और शुद्धता का विशेष ध्यान रखे.घर में लक्ष्मी की पर्याप्त आवक हो, व्यवस्या में आय अधिक तथा व्यय कम हो तथा लक्ष्मी स्थिर रहे, इसके लिए एक दिव्य और सरल प्रयोग है.

  • जानिये ऐसे असरकारी मंत्रो के बारे में जो की धन की वृद्धि करवाते है, धन प्राप्ति करवाते है. कुबेर और अन्य लक्ष्मी मंत्र के लिए आप यह जरूर पड़ें –  DhanLaxmi Mantra in Hindi

#3

इस प्रयोग को करने का समय साल में एक बार ही आता है. यह प्रयोग केवल गुड़ी पड़वा यानी हिन्दू नव-वर्ष के दिन ही किया जाता है. इस प्रयोग में अशोक के वृक्ष की जरूरत पड़ती है.

इस वृक्ष में अग्नि वर्ण के लाल पुष्पों का गुच्छा वर्ष में एक बार दिसंबर जनवरी के महीने में लगता है.

प्रयोग के मुताबिक जिस दिन गुड़ी पड़वा हो उस दिन 11 बजकर 45 मिनट और 12 बजकर 15 मिनट इस समय के बिच में अशोक वृक्ष के पास जाए, जब आप इसके लिए घर से निकले तो किसी से रस्ते में न बोले और ना ही आते वक्त किसी से बोले.

वहां पहुँच कर अशोक वृक्ष की जड़ों में जल चढ़ाये और वृक्ष को नमन करे और प्राथना करे की है अशोक वृक्ष देवी माँ सीता की शक्ति से प्रभावित आपके अक्षय भण्डार में से मात्र आपके 7 पत्रों को में ले जा रहा हूं.

आप मेरा सर्वाथ कल्याण करना. ऐसी प्राथना कर उसके 7 पत्र तोड़कर चुपचाप घर ले आये. इन्हे किसी पुस्तक में सहेज कर रख दें तथा वह पुस्तक तिजोरी में रख दें.

इस प्रयोग से लक्ष्मी जी की असीम कृपा होती है और धन धान्य की बिलकुल कमी नहीं आती, धन स्थिर रहता है.

#4

धन स्थिर नहीं रहने पर आप इस छोटे से आसान पर प्रभावी उपाय को भी कर सकते है.

अपने घर या दुकान में धन रखने की जगह पर लाल कपडा बिछाये इसके अलावा आप तिजोरी में गूंजा के बीज भी रखे तो इससे भी धन स्थिर रहता है.

लक्ष्मी वृद्धि और धन स्थिर करने के लिए एक और सरल प्रयोग बताते है. इस प्रयोग के लिए हमे नीली विष्णुकांता की बेल की जरूरत पड़ेगी.

यह बेल अपराजिता, कोयल अथवा गोकर्णी के नाम से भी जानी जाती है. दीपावली के पहले जो भी गुरुवार पड़े उस दिन इस बेल की दो चार पकी हुई फलिया तोड़ लें.

इन फलियों को अगरबत्ती का धुआं देकर सहेज कर रख लें. इन्हे जहां पैसे अथवा जेवर रखते हो, वहां रखना ज्यादा अच्छा है.

फिर जिस दिन दीपावली हो उस दिन एक गमले में अच्छी साफ़ मिटटी भर कर उसमे इसके कुछ बीज अमृत अथवा लाभ के चौघड़िए में डाल दें. एक से अधिक गमले भी बना सकते है. इन्हे रोजाना पर्याप्त पानी पिलाते रहे.

थोड़े ही दिनों में बीज अंकुरित होकर बेल में बदल जायेंगे. इस बेल के घर में होने से घर की सुख समृद्धि बढ़ती है, घर में अमन चैन रहता है धन धान्य की कभी कमी नहीं आती है.

धन को स्थिर करने के लिए हम एक ऐसे स्त्रोत के बारे में बताने जा रहे है जिसका पाठ अगर आप रोजाना करते है तो आपके धन में स्थिरता आएगी यह बहुत ही दिव्य प्रयोग है.

  • जानिए ऐसे उपायों के बारे में जिनको करने से 21 दिनों के भीतर धन आने लगता है, यह बहुत ही सरल प्रयोग है, जानने के लिए यह जरूर पड़ें – धन आने के उपाय

घर में पैसा रोकने के उपाय की विधि

#5

आपको सिर्फ इस पाठ को करने में 5-6 मिनट का समय लगेगा. यह पाठ है लक्ष्मी द्वादशनाम स्त्रोत, यह परम प्रभावी है. इसके लिए सुबह स्नान करने के बाद इसका अपनी मर्जी अनुसार जितनी बार हो सके पाठ करे.

शुद्ध घी का दीपक जलाकर लक्ष्मी की प्रतिमा के सामने रखे, उन्हें प्रणाम करे और फिर यह स्त्रोत का पाठ करे. यह स्थिर लक्समी के उपाय में यह भी बहुत ही सरल है.

लक्ष्मी द्वादशनाम स्त्रोत की पुस्तक आती है छोटी सी वह आप धार्मिक शॉप से खरीद ले आसानी से मिल जाएगी, फिर आप बताये गई बातों को ध्यान में रखते हुए इसका पथ शुरू करे.

यह बहुत ही लाभदायक है, अच्छे शुद्ध मन से ऐसे पाठ करे जैसे आपके सामने ही लक्ष्मी जी बैठकर सुन रही हो, जितनी तल्लीनता से आप पथ करेंगे उतने ही जल्दी लक्ष्मी जी प्रसन्न होगी.

#6

लक्ष्मी द्वादशनाम स्त्रोत के साथ-साथ या इसके अलावा आप कनकधारा स्त्रोत का पाठ भी कर सकते है. कनकधारा स्त्रोत भी बहुत ही शक्तिशाली होता है, यह दोनों ही बहुत असरकारी है.

कनकधारा स्त्रोत श्री आदिशंकराचार्य जी ने स्थापित किया था, इसके पीछे भी एक कहानी है जो हमने पिछले पोस्ट में बताई थी. यह स्त्रोत धन के साथ साथ वैभव देता है, आर्थिक समस्याओं का अंत करता है.

इसलिए हम आपको कनकधारा स्त्रोत का पाठ करने की सलाह भी दे रहे है, आप दोनों को भी कर सकते है और दोनों में से किसी एक को भी कर सकते है.

कनकधारा स्त्रोत का एक यन्त्र भी आता है, अगर यन्त्र को सिद्ध करके उसकी रोजाना पूजा की जाए और उसके सामने बैठकर कनकधारा स्त्रोत का पाठ किया जाए तो यह अत्यंत लाभकारी सिद्ध होता है. धन की कभी कमी नहीं आती, आर्थिक उन्नति होती है.

कनकधारा स्त्रोत की भी आप पुस्तक खरीद सकते है, पुस्तक से पाठ करना ज्यादा फायदेमंद होता है. इसलिए हम यहाँ पर स्त्रोत का उल्लेख नहीं कर रहे, शायद पिछेल पोस्ट में हमने उल्लेख किया था. बाकी आप धर्मी स्थल से पुस्तक खरीद लें और रोजाना स्त्रोत का पाठ करे.

ghar me paise rokne ke upay Video in Hindi

इस लक्ष्मी द्वादशनाम स्त्रोत और कनकधारा स्त्रोत का पाठ करने से लक्ष्मी जी की कृपा प्राप्त होती है sthir laxmi mantra, सुख समृद्धि और वैभव प्राप्त होता है, बुद्धि प्रखर होती है, मेधा शक्ति में वृद्धि होती है, इसके साथ साथ मानसिक शांति और आत्मबल भी बढ़ता है किसी भी विपरीत स्थिति में व्यक्ति दृढ़ता के साथ उसका सामना कर पाने में सफल हो जाता है. इसलिए इस स्त्रोत का पाठ रोजाना करना चाहिए, धन स्थिर होगा, धन आगमन भी बढ़ेगा.

इस तरह अगर कोई व्यक्ति बताये गए इन धन स्थिर लक्ष्मी के उपाय टोटके, paise rokne ke upay totke in Hindi को करता है तो उसके घर में धन की कभी कमी नहीं आती और धन का आगमन भी बढ़ता है, कम खर्चे होते है लक्ष्मी स्थिर होने लगती है. आप खुद इनमे से किसी भी उपाय को करके देख सकते है. बस पवित्रता के साथ रोजाना नियम से इन उपायों का प्रयोग करे. लक्समी स्थिर रहेगी.